निर्जीव सा घर

—◆◆◆— 🌟स्वरांजली🌟 शब्दों की गूँज🌟 तुमसे ही मेंने हँसना सीखा तुमसे ही मैंने बोलना जाना तुम्ही ने चलना सिखाया तुम्ही ने मुझे दुनियाँ दिखाई और