मेरी भारत माँ

—◆◆◆—


🌟स्वरांजली🌟 शब्दों की गूँज🌟


1🇳🇪–सर पर हिमालय का 🌹
मुकुट धरे।
चरणो में सागर सा
🌺 दास पड़े।।

तीन रंगो की साड़ी पहने 🌹
मेरी जननी,मेरी पालिका।
यही तो है,भारत माँ
🌸 तेरी ,मेरी भारत माँ।।

२–करती शेर की सवारी🌺
शोभा इनकी न्यारी।
गोद में गंगा,यमुना
🍁 करती सबकी तारी।।

हरा,भरा इनका आचल🌷
हीरे,मोती जड़े।
चरणो में सागर सा
🌹 दास पड़े।।

तीन रंगो की साड़ी पहने🌺
मेरी जननी,मेरी पालिका।
यही तो हैं भारत माँ
🌸 तेरी,मेरी भारत माँ।।

3–स्वर्ग से उतरी हैं🌹
यह जगदंबा।
सरस्वती,सावित्रि
🌺 लक्ष्मी,अंबा।।

इनके बागो के फूल हैं🌷
वृद्ध,और गांधी।
जो लेकर आए जग में
🌸 अंहिसा के आंधी।।

स्वर्ग से बढ़कर हैं💐
इनकी महिमा बड़े।
चरणो में सागर सा
🍁 दास पड़े।।

🌹🇳🇪तीन रंगो की साड़ी पहने
मेरी जननी,मेरी पालिका।
यही तो हैं भारत माँ
तेरी,मेरी भारत माँ।।

—◆◆◆—


रचनाकार [{ कवयित्री/कवि }] :- कविकुमारपिन्टू✍


अन्य रचनायें पढ़ें👉 © OfficeOfswara.com

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.